न्यूज़ ग्राउंड एक्सक्लूसिव/(गुलहरिया) गोरखपुर

गोरखपुर लेडी सिंघम के नाम से जाने जाने वाली आई पी एस अधिकारी गोरखनाथ क्षेत्राधिकारी चारू निगम के चर्चे  इस वक्त गोरखपुर ही नही बल्कि पुरे पूर्वांचल में छाए हुए हैI हाल ही मैं चारू निगम और सदर विधायक का विवाद सुर्खियों में था ही तब तक उन्होंने 24 घंटे के अंदर एक खोये बच्चे को उसकी माँ से मिला कर गोरखपुर वासियों का दिल जीत लिया I आपको बता दे चारू निगम को एक तेज तर्रार अधिकारी के रूप में भी जाना जाता है I

इसी क्रम में आई पी एस अधिकारी चारू निगम ने आज 14 मई को अपने क्षेत्र के थाना गुलहरिया अंतर्गत ग्राम मोगलहा में PRV 330 जिसमे हेड कांस्टेबल कामेश्वर चौधरी, कांस्टेबल सुनील कुमार, ड्राईवर ज्ञानेश्वर तिवारी एवं मेडिकल चौकी इंचार्ज संजय यादव, मोगलहा क्षेत्र के एस एस आई प्रवीन राय, महिला कांस्टेबल लकी पाण्डेय एवं उनकी टीम के सहयोग से छापे मारी कर जहरीली शराब बनाने की एक मिनी फैक्ट्री को पकड़ा I जिसमे PRV 330 का सराहनीय कार्य रहा I

PRV 330 को मुखबिर द्वारा सूचना मिली की ग्राम मोगलहा में पति, पत्नी दोनों मिल कर कच्ची शराब का कारोबार करते है I दोनों के नाम क्रमशः समरजीत बेलदार उर्फ़ सोनू पुत्र पारसनाथ बेलदार, गुड्डी पत्नी समरजीत बेलदार है Iतो PRV द्वारा ये सूचना क्षेत्राधिकारी चारू निगम को दी I चारू निगम एवं उनकी टीम ने संयुक्त रूप से छापे मारी कर बड़ी मात्रा में जहरीली शराब बनाने का सामान बरामद कर उसे नष्ट किया जो की:-

यूरिया लगभग 10 किलो

लहन  15 क्विंटल

कच्ची दारू लगभग 100 लीटर

कोयला ३ क्विंटल

गुंड 50 किलो

एवं लगभग 5 से 7 भठियो को नष्ट किया I

खबर लिखे जाने तक थाना अध्यक्ष गुलहरिया ने बताया की समरजीत बेलदार उर्फ़ सोनू फरार है उसकी पत्नी गुड्डी थाने पर है I दोनों पर जहरीली शराब बनाने के तहत 272IPC के तहत कार्यवाही की जाएगी I