भटहट समुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का सीएमओ ने किया औचक
निरीक्षण


जनपद गोरखपुर

मैनुद्दीन अली/भटहट से

सीएमओ गोरखपुर श्रीकांत तिवारी ने भटहट समुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान अभिलेख और डिलेवरी रुम का निरीक्षण किया। और  खामियां मिलने पर एएनएम और आशा को कडी से कड़ी फटकार लगाई। वही सीएचसी के निरीक्षण के उपरांत सीएमओ अतरौलिया गांव के उसरहा टोला पर पहूंच कर चेचक से ग्रसित पीडितों तथा उनके तीमारदारों से मिले और जरुरी सलाह दिया। वही स्वास्थ्य कर्मियों से लगातार पांच दिन तक कैम्प करने का निर्देश दिया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार अपराह्न से पूर्व सीएमओ तिवारी पहूंचे. सीएमओ को वहां पहूंते ही कर्मियों में हडकंप मच गया। श्री तिवारी ने बताया कि एक गांव में कुछ बच्चों को चेचक रोग से पीडित है. जिसके जांच में निकले है।

सीएचसी निरीक्षण के दौरान सीएमओ न उपस्थिति पंजिका का जायजा लिया. इसके ऊपरांत टेले मेडिसिन केन्द्र का निरीक्षण करने के दौरान सीएचसी को आडिनेटर ने बताया अभी तक पुर्णतः उपकरण उपलब्ध नही हुआ है। इसके चलते सुचारु रुप से ओपीडी नही चल रहा है।
इसी क्रम में सीएमओ ने अतरौलिया गांव की एएनएम विमला सिंह आशा मंजूर देबी को उनके गांव चेचक प्रकोप की जानकारी स्वास्थ्य केन्द्र पर न देने पर कडी नाराजगी जताते हुऐ कडी फटकार लगाई। कडी कार्यवाही करने की बात कही। सीएमओ ने आक्रोश में दोनो को सस्पेंड करने की बात तक कह डाला।

इसी क्रम में लेबर रुम पहूंचे वहा की अव्यस्था देख कर कडी नाराजगी व्यक्त किया। स्टाप नर्स पुष्पा तिवारी को डिलेवरी किड संबंधित पूछताछ किया और और लेबर रुम में दो से तीन डिलेवरी किड रखने का निर्देश दिया। और अधिक्षक को लेबर रुम का निरंतर निरीक्षण करने का निर्देश दिया।
महिला वार्ड में परदा ना लगा होने पर स्टाप नर्स को फटकार लगाई। सीएमओ ने कहा कि अंदर महिलाएं रहती हैं, जँगले पर पर्दा लगा होना चाहिए। वंही महिला वार्ड में पर्दा व एसी लगाने का भी निर्देश दिया।

इस संबंध में सीएमओ श्रीकान्त ने कहा कि बिजली पानी और जनरेटर की व्सवस्था ठीकठाक पाया गया। चेचक रोग फैलने की सूचना सीएचसी एएनएम व आशा द्धारा न देने पर उनके विरुद्ध कार्यवाही होना तय है इसके साथ ही सीएचसी से महज डेढ दो किमी की दूरी चेचक के केश सामने आये है लेकिन एमवाईसी से स्पष्टीकरण मांगा जायेगा।

सीएचसी भटहट के निरीक्षण के  उपरांत श्री तिवारी ग्राम पंचायत अतरौलिया के टोला उसरहवा पर पहुंचे। वहां चेचक से ग्रसित पीड़ितों तथा उनके तीमारदारों से मिले। इस दौरान जब एएनएम विमला सिह व आशा मंजू विश्वकर्मा से पूछा कि गांव में कितने चेचक के मरीज हैं तो आशा ने बताया कि 12 मरीज है। सीएमओ ने कहा कि इतने मरीज होने के बाद भी तत्काल सीएचसी पर सूचना क्यो नही दी गई तब आशा ने शादी विवाह में जाने की बात कही। वहीं मरीजों के परिजनों से मिल कर चेचक से बचाव व दवाओं के सेवन आदि के बारे में जानकारी दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here