*अतरौलियाः गांव में चेचक मरीजों की संख्या घटने के बजाय बढती जा रही है.*


*सीएमओ के निरीक्षण के बाद चेचक मरीजों की संख्या हुई* दोगुनी.

*स्वास्थ्य विभाग की टीम लगातार कर रही कैम्प.*

जनपद गोरखपुर

मैनुद्दीन अली /भटहट से

भटहट समुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र से महज डेढ दो किमी की दूरी पर स्थित अतरौलिया गांव में चेचक का प्रकोप बढता ही जा रहा है। यह स्थिति तब जब कि स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ सीएमओ डा श्रीकांत तिवारी ने निरीक्षण किया था। इसके बाद से ही स्वास्थ्य टीम लगातार कैम्प कर रही है। मंगलवार को सीएमओ के निरीक्षण में चेचक मरीजों की संख्या बारह बताई जा रही थी। लेकिन यह संख्या रविवार को नये पुराने मरीजों की कुल 21 हो गई है। इस में कुछ मरीज ठीक भी हो चुके है। स्वास्थ्य टीम मरीजों को लगातार देखभाल के साथ जरुरी इलाज मुहैय्या करने में जुटी है।

बताते चले गत मंगलवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा श्रीकांत तिवारी भटहट समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का औचक निरीक्षण किया था। इस दौरान औतरौलियां गांव में फैल रहे चेचक की जानकारी आशा और एएनएम द्वारा एमवाईसी को न देने से नाराज सीएमओ ने आशा और एएनएम को कडी फटकार लगाते हुऐ सस्पेंड करने तक की बात कह डाले थे। इसके उपरांत वे स्वतः अतरौलिया गांव जाकर पीडित परिवार और चेचक मरीजों से मिले और उनको जरूरी सलाह और इलाज मुहैय्या कराया था। वही उन्होंने ने स्वास्थ्य कर्मियों को लगातार पांच दिन तक गांव में कैम्प करने का निर्देश दिया था। स्वास्थ्य विभाग की टीम लगातार कैम्प भी कर रही है इसके बावजूद भी मरीजों की संख्या घटने के बजाय बढती ही जा रही है।
रविवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम एएनएम विमला सिंह और आशाओं के साथ कैम्प कर रहे थे इस दौरान एक्का दूक्का नये केश सामने आये। वही कुछ ऐसे भी मरीजों को चिन्हित किया गया जिसकी सूची सीएचसी पर उपलब्ध नही कराई गई थी। खबर लिखने तक नये तथा पुराने मरीजों की संख्या बढ कर21
हो गई। जिसमें कुछ मरीज ठीक होने के कगार पर है तो कुछ ठीक भी हो गये है वही कुछ मरीजों की हालत गंभीर बताई जा रही है। सभी मरीजों को स्वास्थ्य टीम ने जरुरी दवाओं के आवश्यक प्रामर्श तथा साफ सफाई पर विशेष ध्यान रखने का सलाह लिया।

*ये रहे पुराने केस* 14 वर्षीय सन्नीदेवल, शिवम 7 वर्ष, संध्या 7 वर्ष, सीता 8 वर्ष, बिट्टू कुमारी 8 वर्ष, रोशनी 10 वर्ष, आयुष 5 वर्ष, अननन्या 3 वर्ष, साधना 25 वर्ष, कृति 9 वर्ष, अभिषेक 10 वर्ष, सिमरन 7 वर्ष,
चेचक रोग से पीड़ित हैं।

 

रोशनी आठ माह, बारह वर्षीय संदीप, चार वर्षीय निशा, तीन वर्षीय अनुष्का बारह वर्षीय मुकेश, तेरह वर्षीय लवकुश, चौदह वर्षीय सुरज,अडतीस वर्षीय गीता।

इस सम्बंद में अधिक्षक अनिल कुमार सिंह का कहना है कि पहले मरीजों की सख्या 12 थी और दो मरीज बडे है। स्वास्थ्य टीम लगातार कैम्प करही है। मरीजों को इलाज प्रामर्श मुहैय्या कराया जारहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here