न्यूज ग्राउंड एक्सक्लूसिव

 

 

उत्तर प्रदेश में चोटी कटने की अफवाह की घटनाओं के संबंध में सूबे के पुलिस महानिदेशक सुलखान सिंह ने एक एडवाइजरी जारी की है।

 

डीजीपी के निर्देश पर अपर पुलिस महानिदेशक, कानून व्यवस्था आनंद कुमार ने समस्त वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक प्रभारी जनपदों को निर्देश दिए हैं कि वह जारी एडवाइजरी के तहत जनता से संवाद स्थापित कर उन्हें स्थितियों अवगत कराएं।

 

जारी एडवाइजरी में कहा गया है कि जनता से संवाद में उन्हें यह बताया जाए कि यह एक अफवाह है, इस पर कतई ध्यान न दें। इस प्रकार की अफवाह फैलाने वालों के बारे में तत्काल पुलिस को सूचना दें एवं कानून को अपने हाथ में न लें। जनता से यह बताया जाए कि इस कृत्य में कोई संगठित गैंग संलिप्त नहीं है।

 

एडवाइजरी में कहा गया है कि ग्रामीण/शांति सुरक्षा समितियों/विशेष पुलिस अधिकारी के माध्यम से इस अफवाह का खंडन किया जाए। जनपदीय पुलिस ऐसे शरारती तत्वों के विरुद्ध उचित वैधानिक कार्रवाई करें। जनपदीय पुलिस सोशल मीडिया (ट्विटर/फेसबुक/वाट्सएप) के माध्यम से लोगों को जागरूक करें एवं इस प्रकार की भ्रामक खबर का खंडन करें।

 

 

चोटी कटने की घटनाओं को कुछ ग्रामीण तंत्र-मंत्र, जादू-टोने से जोड़कर देख रहे हैं और अनदेखे साये का जिक्र करते हुए लोगों ने अपने घरों के बाहर झाड़-फूंक से जुड़ा सामान रखना शुरू कर दिया है। मसलन कुछ घरों के बाहर नीम के पत्ते रखे हुए हैं तो कुछ घरों के बाहर नींबू-मिर्च आदि लटके नजर आ रहे हैं। वहीं कुछ ग्रामीण दहशत के साये से अपने तरीके से निपटने की बात कह रहे हैं।